सुपर ओवर के नियम ( Super Over ke rules)

क्रिकेट के मैच में सुपर ओवर की जरुरत कैसे पड़ती है ? सुपर ओवर से पहले कैसे परिणाम निकलता था ? पहले सुपर ओवर के क्या नियम थे ? सुपर ओवर के नियम अभी क्या है ? ये जानने से पहले जानते है सुपर ओवर होता क्या है >>

सुपर ओवर क्या होता है ? | Super Over kya hota hai?

जब किसी एकदिवसीय मैच या टी-20 मैच में दोनों टीम बराबर का रन बना लेती है निर्धारित ओवर में तब मैच टाई हो जाता है । टाई मतलब कोई सी भी टीम नहीं हारी और न ही कोई टीम जीती । तो इस स्थिति में मैच का परिणाम निकलने के लिए 1-1 ओवर का मैच खेला जाता है जिसे सुपर ओवर या एलिमिनेटर ओवर या वन ओवर पर साइड एलिमिनेटर भी कहते है ।

* सुपर ओवर टेस्ट मैचों में नहीं होता है ।

सुपर ओवर से पहले क्या नियम थे ? | Super Over se phle kya niyam the ?

सुपर ओवर से पहले बॉल आउट तरीके से मैच का परिणाम निकाला जाता था । जब मैच बराबरी पर खत्म हो जाता था तब बॉल आउट किया जाता था। जो टीम बॉल आउट जीत जाती वही टीम मैच की विजेता होती । क्रिकेट में बॉल आउट ठीक वैसे ही होता था जैसे फुटबॉल में पेनल्टी शूट आउट होता है ।

बॉल आउट क्या होता है ? | Ball Out Kya hota hai?

बॉल आउट में प्रत्येक टीम के 5 गेंदबाज़ 1-1 बॉल डालते है तीनो stupms  पर जिस टीम के गेंदबाज़ ज्यादा बार stupms पर बोल मारते वो टीम जीत जाती । जब तक बॉल आउट में कोई टीम दूसरी टीम से ज्यादा स्कोर न करले तब तक ये प्रोसेस चलता रहता है ठीक वैसे ही जैसे फूटबाल में पेनल्टी शूट आउट में जो ज्यादा गोल करती वो टीम जीत जाती है ।

* बॉल आउट के टाइम कोई बल्लेबाज़ी नहीं कर रहा होता है।

टी -20 वर्ल्ड कप 2007 का मैच याद ही होगा आपको जब भारत और पाकिस्तान का मैच टाई हुआ तो परिणाम बॉल आउट तरीके से निकला गया। भारत ने बॉल आउट में पाकिस्तान को हरा दिया था ।

क्रिकेट में 2008 से सुपर ओवर की शुरुआत हुई । एकदिवसीय अंतरास्ट्रीय क्रिकेट में सुपर ओवर की शुरुआत 2011 में हुई ।

पहले सुपर ओवर के क्या नियम थे ?

2019 का एकदिवसीय वर्ल्ड कप इंग्लैंड बनाम न्यूजीलैंड का फाइनल तो आपको याद ही होगा । इस वर्ल्ड कप के फाइनल में जब मैच टाई हुआ तो नतीजा सुपर ओवर से निकाला जाना था पर फिर सुपर ओवर भी टाई हो गया।

मतलब सुपर ओवर में भी कौनसी टीम चैंपियन बनेगी इसका फैसला नहीं हो पाया । तो ICC के नियम के तहत जिस टीम ने ज्यादा चौके लगाए उस टीम को विजेता घोषित किया गया । इंग्लैंड ने 22 चोक्के लगाए थे और न्यूजीलैंड सिर्फ 14 चोक्के लगा सकी।

इस तरह इंग्लैंड पहली बार वर्ल्ड कप विजेता बनी सुपर ओवर के एक नियम की वजह से ।

वर्ल्ड कप फाइनल मैच में सुपर ओवर भी टाई रहने के कारण उस समय के ICC के नियम के मुताबिक ज्यादा चौके लगाने के कारण इंग्लैंड को वर्ल्ड कप विजेता घोषित गया । तो पुरे वर्ल्ड में इस नियम की आलोचना हुई । काफी क्रिकेट विशेषज्ञों ने सुपर ओवर के नियम को बदलने की मांग की । 2019 के बाद सुपर ओवर के कुछ नियम बदले गए ।

वर्तमान में सुपर ओवर के नियम | filhaal Super over ke kya rules hai ?

1- जो टीम दूसरी पारी बैटिंग कर रही होती है वो टीम सुपर ओवर में पहले बैटिंग करती है ।

2- सुपर ओवर में सिर्फ एक – एक ओवर की ही बैटिंग कर सकती है दोनों टीम । जो टीम ज्यादा रन बनाती है वो मैच जीत जाती है इस सुपर ओवर में ।

3- हर टीम की तरफ से सिर्फ 3 बल्लेबाज़ क्रीज़ पर आ सकते है , 2 बल्लेबाज़ ओपनिंग जोड़ी के तौर पर और तीसरा बल्लेबाज़ किसी के आउट होने पर आ सकता है । सुपर ओवर में किसी भी टीम के 2 बल्लेबाज़ों के आउट होने पर ही पारी समाप्त हो जाती है ।

4- 3 बल्लेबाज़ जो सुपर ओवर खेलने वाले है और जो गेंदबाज़ गेंदबाज़ी करने वाला है उनके नाम सुपर ओवर होने से पहले ही बताने होते है ।

5- कोई एक खिलाडी सुपर ओवर में बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी दोनों काम नहीं कर सकता ।

6- गेंदबाज़ी करने वाली टीम चुनती है की वो किस “छोर” से गेंदबाज़ी करना चाहती है ।

7- अगर सुपर और में बारिश आ जाती है और डकवर्थ लुइस नियम लगता है तो जिस टीम ने सुपर ओवर की आखिर गेंद पर ज्यादा रन बनाये है वो विजेता होगी ।

8- सुपर ओवर में बनाये गए रन और लिए गए विकेट खिलाडियों के रिकार्ड्स में नहीं जोड़े जाते है ।

9- अगर सुपर ओवर भी टाई हो गया तो फिर से सुपर ओवर कराया जायेगा और जिस बल्लेबाज़ और गेंदबाज़ ने पहले सुपर ओवर में बल्लेबाज़ी या गेंदबाज़ी की वो दूसरे सुपर ओवर में बल्लेबाज़ी या गेंदबाज़ी नहीं कर पाएंगे और ये सुपर ओवर तब तक कराये जायेगे जब तक नतीजा नहीं निकल जाता ।

सुपर ओवर भी टाई होने पर ICC Turnament में क्या होता है ? Super over Tie hone par icc turnaments me kya hota hai?

पहले – सुपर ओवर टाई होने पर जिस टीम ने ज्यादा चौके लगाए होते है वो ही विजेता हो जाती थी । उदहारण – वर्ल्ड कप फाइनल में इंग्लैंड सुपर ओवर टाई होने के कारण ज्यादा चौके लगाने के आधार पर चैंपियन बनी थी

वर्तमान में – सुपर ओवर टाई होने पर फिर से सुपर ओवर होगा । और तब तक सुपर ओवर होंगे जब तक रनो के अंतर के आधार पर कोई टीम साफ साफ़ जीत नहीं जाती । उदहारण – आईपीएल का मुंबई इंडियंस और किंग्स XI पंजाब का मैच , जिसमे दूसरे सुपर ओवर में पंजाब जीता ।

आईपीएल का मुंबई इंडियंस वर्सेज किंग्स XI पंजाब का मैच देखने के लिए >> यहाँ क्लिक करे

सुपर ओवर के नियम (आईपीएल 2020 सुपर ओवर DOUBLE SUPER OVER )#catchityaar
आईपीएल 2020 सुपर ओवर DOUBLE SUPER OVER#catchityaar

Ravi Bakolia

Hi... i m Ravi Bakolia here .. i have done graduation in IT stream ... i just love read and write about the things i passionate about ... cricket is my passion and happy to share amazing facts , things and stats about cricket. i m new in blogging field , need your love, support and blessing ...thanks..Lets catch it yaar

Leave a Reply