प्रियांक पांचाल और उनके जीवन से जुड़े 11 किस्से

भारत के साउथ अफ्रीका दौरे के लिए टीम इंडिया को उस वक्त बड़ा झटका लगा, जब रोहित शर्मा चोटिल होकर साउथ अफ्रीका दौरे से बहार हो गए । पर जैसा की कहा जाता है जो कुछ होता है वह अच्छे के लिए होता है ।

किसी का बुरा कभी कभी किसी का अच्छा हो जाता है तो यहाँ रोहित शर्मा का चोटिल होना किसी के लिए अच्छा हो गया और किसी का बड़ी सिद्दत से देखा हुआ सपना पूरा हो गया ।

हम बात कर रहे है उस नए गुजराती चेहरे की जो गुजरात की टीम में तो रनों के अम्बार लगा चुके है और अब भारत की टीम में रोहित शर्मा की जगह चुने गए है ।

जी हाँ आप सही समझे हम यहाँ बात कर रहे है प्रियांक पांचाल की ।

खेल जगत में जब कोई नया चेहरा आता है तो उसके बारे में जानने की एक जिज्ञासा रहती है, उनके स्ट्रगल की दास्तान सुनने को मन करता है ।

ये खिलाड़ी यहां तक कैसे आया होगा ??

इन्होंने यहां तक पहुंचने के लिए क्या क्या किया होगा ??

जैसे तरह तरह के प्रश्न हमारे मन में आते रहते है और हम उनके उत्तर खोजने के लिए गूगल यूट्यूब का सहारा लेते है ।

तो आइए आज हम ऐसे ही एक खिलाड़ी की बात करने जा रहे है जो भारतीय क्रिकेट टीम में आए है । जिन्हे अभी हाल में ही दिसंबर 2021 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में रोहित शर्मा के चोटिल होने पर उनकी जगह खेलने का मौका मिला ।

तो चलिए जानते है प्रियंक पांचाल के बारे वो सब कुछ बाते जो सिर्फ कुछ लोग ही जानते है :–

प्रियांक पांचाल का छोटा सा परिचय

प्रियांक पांचाल ( जिनका पूरा नाम प्रियांक किरीट पांचाल है ) का जन्म 9 अप्रैल 1990 को गुजरात के अहमदाबाद शहर में हुआ था ।

परिवार

इनके पिता स्वर्गीय किरीट पांचाल तथा माता दीप्ति पांचाल है जो कि पेशे से एक फैशन डिजाइनर है ।

इनकी एक बड़ी बहन वृंदा पांचाल है जो एक इंटीरियर डिजाइनर है जिनकी शादी हो चुकी है ।

जब ये मात्र 15 वर्ष के थे तो इनके पिता की मन में बेटे को एक क्रिकेटर बनाने का सपना संजोए हुए दुखद मृत्यु हो गई ।

नामप्रियांक पांचाल
पूरा नामप्रियांक किरीट पांचाल
जन्म9 अप्रैल 1990
जन्म–स्थानअहमदाबाद, गुजरात
पिता का नाम स्वर्गीय किरीट पांचाल
माता का नामदीप्ति पांचाल
बहन का नामवृंदा पांचाल
शिक्षाफाइनेंशियल मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रेजुएट
व्यवसायक्रिकेटर
आयु31 वर्ष
वैवाहिक स्थितिअभी कोई जानकारी नहीं
शौकअच्छी अच्छी जगह पर घूमना लोगो से मिलना बाते करना।
गेंदबाजी शैलीदाहिने हाथ बल्लेबाज
बल्लेबाजी शैलीदए हाथ मध्यम गेंदबाज
पसंदीदा खिलाड़ीबल्लेबाज– राहुल द्रविड़
गेंदबाज– जसप्रीत बुमराह
करेंट सिटीअहमदाबाद, गुजरात
टीमघरेलू टीम:– गुजरात क्रिकेट टीम,
अंतर्राष्ट्रीय टीम:– भारतीय क्रिकेट टीम
रिकॉर्डगुजरात टीम के लिए तिहरा शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी।
क्रिकेट कोचकिरन ब्रह्मबत्त्त

प्रियांक पांचाल की शिक्षा –

प्रियंक पांचाल की प्रारंभिक शिक्षा संकल्प इंटरनेशनल स्कूल, अहमदाबाद में हुई ।

हरिदास अचरतलाल कॉलेज ऑफ कॉमर्स, अहमदाबाद से स्नातक की शिक्षा प्राप्त की ।

ये फाइनेंशियल मैनेजमेंट से पोस्टग्रेजुएट है और इन्होंने अपनी सारी शिक्षा अहमदाबाद, गुजरात से ही पूरी की।

पिता का क्रिकेटर बनाने का सपना और प्रियांक का संघर्ष –

प्रियांक पांचाल बताते है की उनके क्रिकेटर बनने के पीछे उनके स्वर्गीय पिता किरीट पांचाल जी का बहुत बड़ा योगदान है । इनके पिता खुद विश्वविद्यालय स्तर तक क्रिकेट मैच खेल चुके है।

पिता की छोटी उम्र में मृत्यु

प्रियांक पांचाल ने एक इंटरव्यू में कहा था कि इनके पिता का सपना था कि मेरा बेटा एक दिन इस देश के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट जरूर खेलेगा ।

इनके पिता यही सपना संजोए मात्र 15 वर्ष के पांचाल को छोड़ कर इस दुनिया से चले गए । परंतु जाते जाते उन्होंने इनके क्रिकेटर बनने की नींव रख दी थी, अब बस पांचाल को करनी थी तो कड़ी मेंहनत और संघर्ष ।

इनका कहना है की इनके पिता इनके क्रिकेट करियर को लेकर बहुत सेंसेटिव रहा करते थे, सुबह सुबह जल्दी 4 बजे उठा कर प्रैक्टिस कराना और समय से क्रिकेट एकेडमी भेजना, सब इनके पिता करते थे ।

माँ और बहन का योगदान

इनके पिता के बाद इनके क्रिकेट करियर को संभालने के लिए इनकी बहन वृंदा और मां दीप्ति ने बहुत योगदान दिया ।

पांचाल का कहना है कि पिता की मृत्यु के बाद इनकी बहन ने समय समय पर इनकी बहुत मदद की । इन्होंने अपने और पिता के सपने को साकार करने पर काम शुरू कर दिया और इनका लक्ष्य था भारतीय क्रिकेट टीम में अपनी जगह बनाना और इस दिशा में इनका प्रयास जारी रहा अंत में इन्हें सफलता मिल गई ।  

अधूरा सपना हुआ सच

एक कहावत है “होनहार बिरवान के होत चिकने पात“, आखिरकर वह दिन आ ही गया जब प्रियांक ने अपनी कड़ी मेहनत और लगन से अपने पिता के अधूरे सपने को सच कर दिया और खुद को एक अच्छा क्रिकेटर बन कर दिखाया ।

उनके पिता के द्वारा दिखाया गया सपना उनके न होने पर भी पांचाल ने पूरा किया अपनी कड़ी मेहनत और लगन से पूरा किया और भारतीय क्रिकेट टीम का एक हिस्सा बन सके ।

प्रियंक पांचाल का क्रिकेट करियर

प्रियांक पांचाल ने अंडर–15 के लिए 2003–04 में पॉली उमरीगर ट्रॉफी के लिए 2 सीजन और अंडर–17 के लिए 2005–06 में विजय मर्चेंट ट्रॉफी के लिए खेलते हुए एक शतक लगाए । उसके बाद अपने घरेलू क्रिकेट करियर की शुरुआत गुजरात के लिए खेलने से की।

इन्होंने 27 फरवरी 2008 को गुजरात की तरफ से महाराष्ट्र के खिलाफ विजय हजारे ट्रॉफी में पदार्पण किया । जिसमे इन्होंने खेलते हुए 115 गेंदों में 17 चौके और एक छक्के की मदद से 123 रन बनाए ।

नवंबर 2008 में सौराष्ट्र के खिलाफ रणजी ट्रॉफी के मुकाबले में उन्होंने प्रथम श्रेणी में पदार्पण किया, जिसमें इनकी गुजरात टीम ने एक पारी और 227 रनों से जीत हासिल की ।

शानदार रहा 2016–17 सीजन –

नवंबर 2016 को पांचाल गुजरात के लिए तिहरा शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बन गए ।

पांचाल दिसंबर 2016 में अपनी शानदार बल्लेबाजी के दम पर गुजरात के लिए रणजी ट्राफी के एक सत्र में 1000 रन बनाने वाले भी पहले खिलाड़ी बन गए ।

रन निकलते रहे 2018–19 सीजन में भी –

2018-19 विजय हजारे ट्रॉफी में गुजरात के लिए 8 मैच में 367 रन बनाए तथा 2018-19 दलीप ट्राफी के लिए इन्हे इंडिया ग्रीन टीम के लिए टीम में चुना गया ।

सीजन 2018–19 में ही रणजी ट्रॉफी में गुजरात के लिए खेलते हुए पांचाल ने 9 मैचों में शानदार प्रदर्शन करते हुए 898 रन बनाए ।

सीजन 2019–20 में इंडिया बी स्क्वाड में हुयी एंट्री –

अगस्त 2019 में वह सीजन 2019-20 के दलीप ट्रॉफी में इंडिया रेड टीम के लिए कैप्टन नामित हुये तथा अक्टूबर 2019 में देवधर ट्रॉफी के लिए इंडिया बी स्क्वाड के लिए भी नामित किए गए।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एंट्री 2020–2021 सीजन –

   जनवरी 2021 में इन्हें 5 खिलाड़ियों में से इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट स्क्वाड के लिए चुना गया परंतु यह उनका दुर्भाग्य रहा कि वे इस मैच में खेल नही पाए ।

भारतीय टेस्ट टीम में मिली जगह

दिसंबर 2021 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में रोहित के हैमस्ट्रिंग इंजरी के कारण उनकी जगह पर पांचाल चुना गया उन्होंने अभी तक कोई अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेला था, लेकिन इनकी घरेलू मैचों में प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है जिसके कारण रोहित की जगह पर इन्हे चुन लिया गया। सीनियर चयन बोर्ड ने भारत ए के दिसंबर 2021 में होने वाले साउथ अफ्रीका दौरे के लिए भारत ए टीम की घोषणा की जिसका कैप्टन प्रियांक पांचाल को बनाया गया था ।

प्रियांक पांचाल के जबरदस्त रिकॉर्ड्स –

प्रियांक पांचाल ने गुजरात के लिए खेलते हुए दो रिकॉर्ड्स बनाए है –

✪ 2016 में गुजरात के लिए तिहरा शतक लगाया जिसके साथ ही पांचाल गुजरात के तिहरा शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी बन गए । इस मैच में इन्होंने 460 गेंदों में 32 चौकों की मदद से 314 रन बनाकर नाबाद पारी खेलते रहे।

✪ गुजरात के रणजी ट्रॉफी सीजन में 1000 रन देने वाले पहले खिलाड़ी प्रियांक ही है । इस सीजन में इन्होंने 10 मैचों और 17 पारियों में कुल 1310 रन बनाए थे।

कुछ महत्वपूर्ण तथ्य –

  • पांचाल को नई-नई जगहों पर घूमना अच्छे-अच्छे खाने खाना और लोगो से मिलना बहुत ज्यादा पसंद है ।
  • प्रियांक पांचाल के सबसे पसंदीदा खिलाड़ियों में बल्लेबाजी के लिए राहुल द्रविड़ और गेंदबाजी के लिए जसप्रीत बुमराह है । 
  • ये सोशल मीडिया पर भी फैन्स के द्वारा बहुत अधिक पसंद किए जाते है । वर्तमान में इनके इंस्टाग्राम पर 81.9 K फॉलोअर्स है और ट्विटर पर भी 11000 से अधिक लोगो ने फॉलो किया है । 
  • प्रियांक पांचाल के क्रिकेट कोच किरन ब्रह्मबत्त है ।
  • ये दाहिने हाथ के बल्लेबाज और दाएं हाथ मध्यम गेंदबाज है ।
  • पांचाल का पसंदीदा बल्लेबाजी का शॉट स्ट्रेट ड्राइव शॉट है ।
  • इन्होंने अपने करियर का पहला मैच 3–6 नवंबर 2008 को गुजरात की तरफ से सौराष्ट्र के खिलाफ राजकोट में खेला था ।
  • प्रियांक पांचाल को उनके घरेलू मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने के आधार पर ही टीम इंडिया में सिलेक्शन किया गया।

इंटरव्यू पर आधारित तथ्य –

प्रियांक पांचाल टाइम्स ऑफ इंडिया के एक इंटरव्यू में कहते है कि “यह मेरे पिता का सपना था कि मैं एक दिन भारत का क्रिकेटर बनूंगा । उन्होंने विश्वविद्यालय स्तर पर क्रिकेट खेला था हालांकि जब मैं 15 साल का था तो उनका निधन हो गया, उस समय मेरी मां और बहन दोनो ने मेरे सपने को जिंदा रखने पर काम शुरू किया । उनके बलिदान ने मुझे क्रिकेटर बनने में मदद की।” 

   ✪ पांचाल राहुल द्रविड़ के बारे में बोलते है कि “जब भी मैं खाली होता हूं, तो मैं भारत के 2011 के इंग्लैंड दौरे के दौरान उनकी बल्लेबाजी को देखता हूं, जब उन्होंने एक श्रृंखला में तीन शतक लगाए थे ।”

    ✪ प्रियांक पांचाल यह मानते है कि भारतीय क्रिकेट टीम में जगह बनाना इतना आसान नहीं है, उसके लिए उन्हें लगातार अपने रन बनाने जारी रखने होंगे और अच्छे से अच्छा प्रदर्शन करते रहना होगा । इसलिए भारतीय क्रिकेट टीम में जगह बनाए रखने के लिए ये रन बनाना जारी रखना चाहते है।

प्रियांक पांचाल है टीम इंडिया में खेलने के लिए तैयार…

Lets Catch it Yaar

Ravi Bakolia

Hi... i m Ravi Bakolia here .. i have done graduation in IT stream ... i just love read and write about the things i passionate about ... cricket is my passion and happy to share amazing facts , things and stats about cricket. i m new in blogging field , need your love, support and blessing ...thanks..Lets catch it yaar

Leave a Reply