Last Updated on 30th January 2023 by Ravi

क्रिकेटर पार्शवी चोपड़ा biography hindi
#क्रिकेटर #पार्शवी_चोपड़ा
क्रिकेटर पार्शवी चोपड़ा biography hindi
#क्रिकेटर #पार्शवी_चोपड़ा

पार्शवी चोपड़ा भारतीय महिला अंडर 19 टीम की खिलाडी है। ये दांये हाथ की लेग ब्रेक स्पिनर और दांये हाथ की बल्लेबाज़ है, पार्शवी टीम में बतौर गेंदबाज़ी आलराउंडर खेलती है।

पहले महिला अंडर-19 वर्ल्ड कप में दूसरी सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली पार्श्वी चोपड़ा की गेंदों का जवाब किसी भी बल्लेबाज़ के पास नहीं मिला ।

भारत की इस होनहार लेग ब्रेक स्पिनर ने बेहद शानदार गेंदबाज़ी कर भारतीय टीम को वर्ल्ड कप जीतने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

इनके बारे में जानने की दिलचस्पी के चलते इस लेख में हम इनसे जुडी खूब सारी बाते करने वाले है।

तो चलिए पार्शवी चोपड़ा का जीवन परिचय को देखते है ।



पार्शवी चोपड़ा बायोग्राफी – संघर्ष, टर्निंग पॉइंट और क्रिकेट में कैसे आना हुआ?

पार्शवी चोपड़ा का जन्म १० मई 2006 को बुलंदशहर , उत्तरप्रदेश में हुवा। इनके पिता गौरव चोपड़ा चाहते थे कि उनकी बेटी भारतीय जर्सी पहन कर देश के लिए खेले।

इस सपने को पूरा करने के लिए पार्श्वी जब 10 साल की हुई तभी से ये ग्रेटर नॉएडा में युवराज सिंह सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस में क्रिकेट सिखने चली गयी ।

युवराज सिंह भारत के पूर्व क्रिकेट खिलाडी है। इनकी क्रिकेट में युवा खिलाडियों को प्रोत्साहन और प्लेटफार्म देने के लिए एक अकेडमी है जिसका नाम है युवराज सिंह सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस।

इस सेंटर में पिछले 6 साल से पार्श्वी अपने क्रिकेट टैलेंट को निखार रही है।

इस सेंटर में पार्शवी जब आयी तब मध्यमगति की तेज गेंदबाज़ बनना चाहती थी , पर यहाँ पर इनको कोच विशाल भाटिया ने लेग स्पिन पर फोकस करने को कहा।

लेग स्पिन सिखने के लिए पार्शवी ने दुनिया के सबसे बढ़िया लेग स्पिनर शेन वार्न के खूब वीडियो देखे और सोचा लेग स्पिन तो बहुत मुश्किल और इंटरेस्टिंग है।

फिर कोच विशाल भाटिया की देख रेख में लेग स्पिन पर काफी मेहनत की और अच्छी लेग स्पिन करने लग गयी।

पार्शवी जब सिर्फ 12 साल की थी तब उत्तरप्रदेश की अंडर-16 के लिए ट्रायल दिए पर रूल के अनुसार कम उम्र होने के कारण सेलेक्ट नहीं की गयी।

पहली कोशिश में पार्शवी की तारीफ तो सभी ने की पर पार्शवी टीम में जगह नहीं बना पाई।

पार्शवी लगातार कड़ी मेहनत कर रही थी बोलिंग भी अच्छी कर रही थी पर विकेट नहीं चटका प् रही थी इस से ये काफी परेशान हो गयी तब इनको भाटिया सर ने बल्लेबाज़ों के दिमाग से खेलना और बोलिंग में विभिन्नता लेकर बल्लेबाज़ को आउट करने के गुर और मानसिक मजबूती रखना सिखाया

इसके बाद पार्शवी अगले साल अंडर-16 में उत्तरप्रदेश की टीम में सेलेक्ट हो गयी फिर अपनी शानदार गेंदबाज़ी से भारत की अंडर 19 टीम की प्रमुख गेंदबाज़ बन गयी।

मात्र 16 साल की पार्शवी को भारत की महिला अंडर-19 टीम में पहले महिला अंडर-19 विश्वकप 2023 में खेलने का मौका मिला।

इस मोके का पूरा फायदा उठाते हुए पार्शवी ने अपनी बेहतरीन लेग ब्रेक गेंदबाज़ी से सबको प्रभावित करते हुए भारतीय टीम को मैच जीतने में शानदार योगदान दे रही है।

पार्शवी चोपड़ा का पारिवारिक परिचय

Family Background of Parshavi Chopra

पूरा नामपार्शवी गौरव चोपड़ा
जन्मदिन१० मई 2006
उम्र16 साल (जनवरी 2023 तक )
जन्मस्थानबुलंदशहर,उत्तरप्रदेश
पिता का नामगौरव चोपड़ा
माता का नाम
भाई / बहन का नाम
वैवाहिक स्थिति अविवाहित
गांव / शहर का नामबुलंदशहर, उत्तरप्रदेश
स्कूलयुवराज सिंह सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
कॉलेज

पार्शवी चोपड़ा का अब तक का अंडर 19 वर्ल्ड कप सफर

Cricket Journey of Parshavi Chopra

प्रारूपमैचपारीविकेटBBIऔसतइकॉनमी
टी-206115/4७.००३.66
ये आंकड़े ३० जनवरी 2023 तक के है।

पार्श्वि चोपड़ा के खेल कूद के आंकड़े इस अंडर 19 वर्ल्ड कप में कमाल के रहे है। इस खिलाडी ने वर्ल्ड कप में 7 की शानदार औसत और 3.66 की इकॉनमी से बहुत ही लाजवाब गेंदबाज़ी की है ।

क्रिकेटर पार्शवी चोपड़ा की क्रिकेट प्रोफाइल

Cricket Profile of Parshavi Chopra

पेशाभारतीय महिला क्रिकेटेर
भूमिकागेंदबाज़ी आलराउंडर
बैटिंग स्टाइलदांये हाथ की बल्लेबाज़
बोलिंग स्टाइलदांये हाथ की लेगब्रेक गुगली
जर्सी नंबर#१०
टीमइंडिया महिला अंडर 19 , उत्तरप्रदेश विमेंस टीम
कोच / मेंटरविशाल भाटिया
अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यूअभी तक नहीं किया।

पार्शवी चोपड़ा का व्यक्तिगत परिचय

Personal Profile Of Parshavi Chopra

निकनेमपार्शवी
लम्बाई5 फुट 2 इंच लगभग
वजन४५-50 लगभग
आँखों का रंगकाला
बालो का रंगकाला
बॉडी का रंगगोरा
नेटवर्थ इनकम
इंस्टाग्राम अकाउंटयहाँ क्लिक करके देखें
फेसबुक अकॉउंटयहाँ क्लिक करके देखें
ट्विटर अकाउंटयहाँ क्लिक करके देखें

पार्शवी चोपड़ा की अंडर 19 वर्ल्ड कप में सबसे अच्छी गेंदबाज़ी पारी

पार्शवी चोपड़ा ने अंडर 19 वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल में नूज़ीलैण्ड के खिलाफ बेहतरीन गेंदबाज़ी करते हुए नूज़ीलैण्ड को 107 रन पर रोक दिया ।

इस मैच में पार्श्वी चोपड़ा ने 4 ओवर में 20 रन देकर 3 विकेट चटकाए

अंडर 19 महिला वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मुकाबले में ये पार्श्वि का शानदार खेल याद रखा जायेगा।

पार्श्वी ने बहुत बेहतरीन लाइन लेंथ से गेंदबाज़ी करते हुए नूज़ीलैण्ड की खिलाडियों को एक के बाद एक करके 3 खिलाडियों को पवेलियन का रास्ता दिखाया।

4 ओवर में से 1 ओवर मैडन भी डाला। पार्श्वि को इस सेमीफाइनल मुकाबले में प्लेयर ऑफ़ द मैच अवार्ड से सम्मानित किया गया।

पार्श्वि चोपड़ा के अब तक के क्रिकेट करियर की ये सबसे अच्छी गेंदबाज़ी पारी रही है।


पार्शवी चोपड़ा की ताकत/खाशियत

  • पार्शवी का अपनी गेंदों पर बहुत अच्छा कण्ट्रोल रहता है।
  • इनकी गेंद काफी देर तक हवा में रहती है और टप्पा खाकर बल्लेबाज़ को गच्चा दे जाती है।
  • इनके पास काफी सारी विभिन्न प्रकार की वैरिएशंस होते है।
  • इनकी गेंद पढ़ पाना किसी भी बल्लेबाज़ के लिए बहुत मुश्किल होता है।
  • पार्शवी चोपड़ा एक विकेट टेकर गेंदबाज़ तो है ही साथ ही बहुत किफायती गेंदबाज़ भी है।

क्या क्या पसंद है हमारे स्टार पार्शवी चोपड़ा को ?? Favorite, Hobbies

खाना
क्रिकेटरशेन वार्न
गेंदबाज़
पसंदीदा शॉट
हीरो
हीरोइन
होब्बी
सिंगर
कमेंटेटर
क्रिकेट ग्राउंड
पसंदीदा रंग
कार
जगह
नेटवर्थ इनकम

पार्शवी चोपड़ा के catch it point और अनकहे तथ्य

  • पार्शवी चोपड़ा ने युवराज सिंह सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस से प्रशिक्षण प्राप्त किया है।
  • महान लेग स्पिनर शेन वार्न काफी वीडियो और विशाल भाटिया सर के मार्गदर्शन से ये लेग स्पिनर बनी है।
  • इनके पिता गौरव चोपड़ा का सपना रहा है कि इनकी बेटी पार्श्वी भारतीय महिला टीम में खेले, इसी सपने को पूरा करने के लिए पार्श्वि जी जान से मेहनत कर रही है।
  • पहले महिला अंडर 19 वर्ल्ड कप में 11 विकेट लेकर दूसरी सबसे ज्यादा और भारत की सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली गेंदबाज़ रही। भारत को वर्ल्ड कप जीताने में इनका अहम् योगदान रहा।

पार्शवी चोपड़ा के बारे में पूछे जाने वाले सवाल और उनके जवाब


उम्मीद करते है आपको Parshavi Chopra Biography in Hindi पसंद आया होगा।

Ravi

नमस्कार दोस्तों, मैं रवि हूँ। ...मैंने इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में ग्रेजुएशन किया है। मुझे क्रिकेट से सम्बंधित खबर पढ़ना और लिखना , क्रिकेट के बारे में जानने का बहुत शौक है.. बचपन से गलियों, मैदान में खूब क्रिकेट खेला है। क्रिकेट के बारे में आपके साथ जानकारी बाँटते हुए मुझे बहुत ख़ुशी होती है। इस https://www.catchityaar.com/ वेबसाइट के जरिये मैं क्रिकेट के माध्यम से आपसे जुड़ा हुआ हूँ। आपके प्यार और सहयोग के लिए मैं दिल से आभारी हूँ। धन्यवाद,...(Lets catch it yaar)

Leave a Reply