मेघना सिंह : यूपी की गलियों से ऑस्ट्रेलिया तक का सफर # मेघना सिंह की बायोग्राफी

भारतीय महिला क्रिकेट टीम एक सुनहरे बदलाव के दौर से गुजर रही है । हाल ही में भारत की तरफ से काफी खिलाडियों ने डेब्यू किया है । भारत की तरफ से टेस्ट में स्नेह राणा और तानिया भाटिया का डेब्यू सुनहरा रहा , टेस्ट और वन डे में यास्तिका भाटिया ने छाप छोड़ी और यास्तिका के साथ एक शानदार आल राउंडर मेघना सिंह ने भी डेब्यू कर भारत की महिला टीम में आल राउंडर के लिए विकल्प जोड़े है ।

आज हम बिजनौर की उस लड़की के जीवन के बारे में जानेगे जो अपने संघर्ष और ज़िद्द के दम पर उत्तरप्रदेश की गलियों से निकल कर ऑस्ट्रेलिया के मैदान तक पहुंची ।

काफी दिलचस्प रहेगा ऐसी बहादुर लड़की की जीवनी जानना जो 25 किलोमीटर रोज खेलने जाती और लड़को के साथ खेल कर अपने खेल को निखारा है । तो चलिए शुरू करते है –

मेघना सिंह कौन है ?? मेघना सिंह का पूरा बायोडाटा ??

मेघना सिंह की क्रिकेट जानकारी

नाममेघना सिंह
पेशाभारतीय महिला क्रिकेटर
टीमभारतीय महिला क्रिकेट टीम ,इंडिया A वुमन,उत्तरप्रदेश वुमन ,वेलोसिटी
रोलआल राउंडर
बल्लेबाज़ीदांये हाथ की बल्लेबाज़
गेंदबाज़ीदांये हाथ के माध्यम गति के गेंदबाज़
टेस्ट डेब्यू30 सितम्बर – 3 अक्टूबर 2021 बनाम ऑस्ट्रेलिया
वन डे डेब्यू– 21 सितम्बर 2021 बनमा ऑस्ट्रेलिया

मेघना सिंह की व्यक्तिगत जानकारी

जन्म18 जून 1994
उम्र27 साल
जन्म स्थानबिजनौर , उत्तरप्रदेश
लम्बाई5 फ़ीट 1 इंच
वजन50-55 Kg
शरीर का रंगगेहुआ
आँखों का रंगकाला
बालो का रंगकाला

पारिवारिक परिचय

उत्तरप्रदेश में बिजनौर के छोटे से गांव कोतवाली देहात में मेघना सिंह का परिवार रहता है । परिवार में दादी, माता-पिता, 4 बहनें और 1 भाई रहते है ।

मेघना सिंह, विजयवीर सिंह और आशा देवी की बड़ी बेटी है । विजयवीर सिंह शुगर मिल में सिक्योरिटी गार्ड का काम करते है और मेघना की माँ आशा देवी आंगनवाड़ी में कार्यकत्री है । इनके दादा रिटायर्ड पुलिस कर्मी है । मेघना की तीन छोटी तीन बहनें और 1 भाई है, ये सब पढाई करते है ।

मेघना सिंह की संघर्ष की कहानी

शुरू में जब मेघना सिंह ने क्रिकेट खेलना शुरू किया तभी से मेघना का संघर्ष भी शुरू हो गया और लड़को के साथ खेल कर बड़ी हुई । जैसा की आम तौर पर होता है कि भारत में ज्यादातर महिला क्रिकेट खिलाडी को खेल सिखने के लिए लड़को के साथ खेलना पड़ता है । अब आप खुद ही सोचो कि टीम में 20-21 लड़के खेल रहे हो और साथ में 1 लड़की खेल रही हो तो उस लड़की को कितनी असहजता होगी ।

हाँ, असहजता और अजीब सा लगेगा । समाज, मोहल्ले और गांव के लोग तरह-तरह की बाते भी करेंगे । पर लड़को के साथ खेल कर मेघना सिंह ने अपने हुनर को इतना निखारा है कि अब वो लड़कियों में सर्वश्रेठ खिलाडियों में आती है ।

मेघना सिंह के संघर्ष की कहानी शुरू होती है उसके रोज सुबह 4 बजे जग कर 25 किलोमीटर दूर बिजनौर के नेहरू स्टेडियम में जाना और वहां पर घंटो पसीना बहाना । अपने ऊपर विश्वास बनाये रखते हुए मेघना लगातार कड़ी मेहनत करती गयी और फिर कहते है न कड़ी मेहनत हमेशा रंग लाती है । यही हुआ मेघना के साथ भी इनकी मेहनत रंग लायी ।

भारत की महिला क्रिकेट टीम का ऑस्ट्रेलिया के टूर के साथ ही मेघना की मेहनत भी ख़ुशी के रंग ले आयी । और ना केवल मेघना के लिए बल्कि मेघना के पुरे परिवार के लिए ख़ुशी का माहौल हो गया और बिजनौर में बिटिया मेघना का भारत की टीम में सेलेशन होने पर त्यौहार सा आ गया था । चारो तरह मेघना के ही चर्चे थे ।

मेघना का डेब्यू हुआ ऑस्ट्रेलिया जैसी खतरनाक टीम के खिलाफ

भारत ने अगस्त महीने में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1 टेस्ट और 3 वन डे मैचों की सीरीज के लिए जैसे ही नाम की घोषणा की । उत्तरप्रदेश के छोटे से गांव कोतवाली देहात की मेघना का परिवार ख़ुशी से झूम उठा ।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम और ऑस्ट्रेलिआई महिला क्रिकेट टीम के बिच 3 वन डे मैचों की सीरीज के पहले मैच 21 सितम्बर को भारत की तरफ से वन डे में आल राउंडर मेघना सिंह ने डेब्यू किया ।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 30 सितम्बर – 3 अक्टूबर को खेल गए ” पहले डे – नाईट टेस्ट मैच ” में भारत की महिला क्रिकेट टीम की तरफ से 2 खिलाडियों ने अपना टेस्ट डेब्यू किया जिसमे एक है बल्लेबाज़ यास्तिका भाटिया और दूसरी है आल राउंडर मेघना सिंह ।

मेघना सिंह और उसके परिवार का सपना आखिरकार साकार हो ही गया ।

क्या रोले होगा भारतीय टीम में

भारत की टीम में शानदार बल्लेबाज़ों और अनुभवी गेंदबाज़ो की कोई कमी नहीं है । इसके अलावा भारत के पास हरमन प्रीत कौर के रूप में दुनिया की सबसे बेहतरीन गेंदबाज़ भी है ।

मेघना जो कि आल राउंडर है उनका रोल होगा भारत की T-20 की कप्तान और तूफानी आल राउंडर हरमन प्रीत कौर का साथ निभाना । मेघना का रोल होगा हरमन प्रीत के ऊपर से बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी का दबाव कम करना उनको अपनी तरह से पूरी तरह दबाव फ्री होकर खेलने देना ताकि हरमन प्रीत टीम इंडिया को ज्यादा से ज्यादा मैच जीता सके ।

डेब्यू सीरीज में मेघना का प्रदर्शन कैसा रहा ??

ऑस्ट्रेलिया में जाकर खेलना अपने आप में बहुत बड़ी बात है । डेब्यू सीरीज में एक मात्र टेस्ट में 21 ओवर डाल के 2 विकेट चटकाए । बल्लेबाज़ी में ज्यादा बॉल खेलने का मौका नहीं मिला और 2* रन बना कर नाबाद रही ।

वन डे में 3 मैच में मेघना सिंह ने अपनी इनस्विंग गेंदबाज़ी और शानदार लाइन लेंथ से सबको काफी प्रभावित किया पर विकेट सिर्फ 1 मिला । पर मेघना ने अपनी गेंदबाज़ी से उम्मीद जगाई है कि वे भारत के लिए लम्बे समय तक खेलने कि क्षमता रखती है ।

वन डे में भी बल्लेबाज़ी करने का ज्यादा मौका नहीं मिला । 3 मैचों में सिर्फ 2 पारी खेलने का मौका मिला और सिर्फ 5 बॉल खेल कर 3 रन बना सकी ।

कुल मिलकर मेघना सिंह का प्रदर्शन ऐसा कोई स्पेशल सा नहीं रहा । पर टेस्ट और वन डे में गेंदबाज़ी करने का पूरा मौका दिया गया जहाँ मेघना ने प्रभावित भी किया पर आल राउंडर मेघना का दूसरा पहलु मतलब बल्लेबाज़ी करने का मौका नहीं मिला है । टेस्ट और वन डे दोनों में मेघना ने अभी तक कुल 11 गेंद खेली है ।

Ravi Bakolia

Hi... i m Ravi Bakolia here .. i have done graduation in IT stream ... i just love read and write about the things i passionate about ... cricket is my passion and happy to share amazing facts , things and stats about cricket. i m new in blogging field , need your love, support and blessing ...thanks..Lets catch it yaar

Leave a Reply